Why Sonam Gupta Bewafa Hai – Real Life/ Present Boyfriend of Sonam Gupta Real Photo/ History/ True Story

Read the true story of Sonam Guptaand her boyfriend. Why Sonam Gupta Bewafa, history?  The real photo was found online by ABP Viral Sach/ India Times/ Aaj Tak. The user have also prepared Youtube video of Sonam Gupta Bewafa h (Hindi mein Puri Sachi Kahani). Also after the hectic research and and investigation, We have found the Real story of sonam gupta and why she is bewafa hai. Please read below the complete sonam gupta story.
Sonam Gupta Bewafa hai” Rs. 10 note was trending earlier but after the recent currency ban and same written on new note of Rs. 2000 surfaced on the internet, it is very much popular now a days. But here we will tell you the real story behind the most trending internet troll and we went from place to place and searched history of Sonam Gupta bewafa hai and we found the real story behind it and i can bet that you can’t hold your heart from weeping after reading this. Now after getting numerous requests from the users to read the real story of sonam gupta bewafa hai in hindi, below we have translated the same in hindi also, नीचे पढ़ें सोनम गुप्ता बेवफा क्यों है की हिंदी में सच्ची कहानी. Very Soon we will update sonam gupta story in Marathi, Gujarati, Tamil, Punjabi, Kannad etc. different languages. We will daily update the sonam gupta bewafa hai story on the basis of recent social impacts and news.

सोनम गुप्ता असली कहानी

Real story Sonam gupta bewafa hai
Real story Sonam gupta bewafa hai

History of Sonam Gupta Full Story

This episode find its root in the city of Kanpur (UP), when a school boy named Shankar Tripathi student of class 11 was one day coming from Physics coaching class from Barra to Ratan lal nagar and he found a girl whose cycle chain was derailed and she was trying hard to fix it, Shankar stopped and offered help and successfully fixed the issue and girl left the place after returning a polite thank you. Days went on, shankar was all busy with the routine work when one day he saw a familiar face on a “Gol Gappa” shop which he shortly identified as the girl he helped with chain fixing.

Sonam Gupta Real Video – Real Story


सोनम गुप्ता बेवफा है असली कहानी

Shankar deliberately reached the same shop with no intention to eat gol gappa’s and then came the moment when he made an eye contact with the girl, in a quick embarrassment he said to shopkeeper “Bhaiya chain wale ki dukaan kidhar hai??” with eye wide opened shopkeeper gave a strange look to the boy and shankar literally felt as if hot steam is coming out of his face and ears. He suddenly lift his cycle and ran away and the last thing he heard was a quick laughter of a girl. After two days he was buying some stationary from Ratan lal nagar when he saw the same girl inside the shop offering cup of tea to the shopkeeper, he paid quickly and read the name of the shop as “SONAM STATIONERS AND BOOK MART”. Now shankar started visiting quickly the same sonam stationers and most of the time she use to find that girl sitting on the counter and gradually he started communicating with the girl. One day finding the girl alone on the shop shankar asked ” what is your name?”, The girl pointed to the board on the left reading as SONAM STATIONERS AND BOOK MART.
A few days passed, Shankar by now had made a good communication with sonam and on the eve of 31st December 2005, he offered her a quick treat of new year 2006 and asked her to come with him for some hot spicy samosa’s. Sonam got agreed to this and they reached the local famous samosa shop, shankar was very happy till he heard a roaring voice from behind “SONAM what are you doing here??” Sonam’s face got paled he was her father. He again yelled who have you informed before coming here and who is he?? pointing towards shankar, By Now Sonam got very much nervous and in a low voice she replied “Sorry papa, i don’t know him, he was just asking for some money and i offered him a samosa” Shankar was numbed he gave a quick look to shankar wearing blue rubber slippers, green hand weaved half sweater over brown pants with a patch of Rafoo on his left knee, Sonam’s father suddenly waved a 10 rs. note and abused him saying BC, kaam kiya kar saale maangne aa jate hain, chal bhaag yahan se” to shankar and grab the hand of sonam and left the place, people around the place were laughing over the shankar, and without uttering a word shankar left the place with tears rolling over his cheeks. He took that Rs. 10 note and wrote “SONAM GUPTA BEWAFA HAI” over it.
Right Now Shankar Tripathi is a MINING ENGINEER in Bahrain and he got pass out from MBM Engg College, Jodhpur. Their are No traces of Sonam Gupta and new note of 2000 on which sonam gupta is written is not wrote by shankar tripathi but Rs. 10 note is the original one.

FUNNY PHOTOS OF SONAM GUPTA

Sonam Gupta True Story
Sonam Gupta True Story

सोनम गुप्ता बेवफा हिंदी में पूरी कहानी

यह प्रकरण कानपुर (उत्तर प्रदेश) का है, जब एक स्कूल के लड़के 11 class  के शंकर त्रिपाठी छात्र नामित एक दिन बर्रा से भौतिकी कोचिंग क्लास से रतन लाल नगर के लिए आ रहा था | वह एक लड़की जिसकी साइकिल की चैन उतर गयी थी. यह देख कर शंकर इसे ठीक करने के लिए पूछता है और वह उस साईकिल को ठीक भी कर देता है | वह लड़की एक विनम्र धन्यवाद कह कर वह से चले जाते है | कुछ दिन यूँ ही गुजरते हैं, और जब शंकर एक दिन “गोल गप्पे” दुकान पर रुकता है और देखता है की की जिस लड़की की साईकिल उसने ठीक की थी वह गोल गप्पे खा रही थी | शंकर की जब नज़र उस लड़की से मिलती है तो वह हडबडाहट में दुकानदार से साईकिल ठीक वाले का पता पूछता है जिस पर दुकानदार शंकर को घूरने लगत है, इस से घबरा कर शंकर वहां से भागने लगता है | लेकिन उसे उस लड़की की तेज़ हँसी सुन जाती है|
कुछ दिनों के बाद शंकर रतन लाल नगर स्थित एक किताब की दूकान से कुछ खरीद रहा होता है के तभी उसको वोही लड़की दुकान के अन्दर दिखाई देती है जो की दुकान में बैठे व्यक्ति को चाय का कप पकड़ा रही होती है. शंकर वापस से पेट में गुदगुदी का अनुभव करता है जो उसे हर बार उस लड़की को देख के होती थी, उसने जल्दी से पैसे दिए और बहार आ कर दूकान का नाम पढ़ा जो “सोनम स्टेशनर्स एंड बुक मार्ट” था. अब शंकर ने आमतौर पर उस दूकान पर जाना प्रारंभ कर दिया और अधिकतर वो उस समय जाया करता था जब वह लड़की दुकान पर अकेले होती थी, धीरे धीरे उसने लड़की से बातचीत का सिलसिला शुरू कर दिया और एक दिन उसने लड़की को अकेला पा कर पूछ ही लिया के “आपका नाम क्या है?” लड़की ने बिना जवाब दिए दुकान के बोर्ड की तरफ इशारा कर दिया जिस पर सोनम स्टेशनर्स लिखा था.
कुछ और दिनों में शंकर की सोनम से और अधिक बात होने लगी और 31 दिसम्बर 2005 की शाम को शंकर ने सोनम से कहा के मैं तुम्हे न्यू इयर 2006 की पार्टी देना चाहता हूँ तो क्या तुम मेरे साथ पास की दुकान में समोसे खाने चलोगी? सोनम इस बात पर राज़ी हो गयी और वो लोग पास की समोसे की दूकान पर पहुँच गए, शंकर अब बहुत ख़ुशी महसूस कर रहा था की तभी उसने पीछे से एक तेज़ आवाज़ सुनी “सोनम तुम यहाँ क्या कर रही हो ?” सोनम का चेहरा सफ़ेद हो गया यह कोई और नहीं सोनम के पिता जी थे, वो आवाज़ दुबारा गरजी और कहा के तुमने घर में किसे बताया है यहाँ आने से पहले ?तभी शंकर की ओर इशारा करते हुए पूछा और यह लड़का कौन है ? अब सोनम बहुत ज्यादा घबरा चुकी थी और उसने धीमे आवाज़ में कहा के “सॉरी पापा, मैं इस लड़के को नहीं जानती, यह तो मुझसे पैसे मांग रहा था तो मैंने इसे पैसे ना दे कर समोसा खिला दिया” सोनम के इस जवाब से शंकर स्तब्ध था सोनम के पिता जी ने शंकर को देखा जिसने नीली रबड़ की चप्पल, हाथ से बुना हुआ हरे रंग का हाफ स्वेटर और ब्राउन रंग का पेंट पहना था जिसके बाएँ घुटने पर रफू का निशान था, शंकर एक गरीब परिवार से आता था और सोनम को दिल से पसंद करता था. सोनम के पिता ने अपनी जेब से 10 का नोट निकाल के शंकर की तरफ फैंका और भद्दी गाली देते हुए कहा के “काम किया कर साले, मांगने आ जाते है चल भाग यहाँ से”  इतना कह कर वो सोनम का हाथ पकड़ कर उसे वहां से ले गए. वहां मौजूद सभी लोग शंकर पर हंस रहे थे और उसका मज़ाक उड़ा रहे थे, वो वहां अब व्यंग का पात्र हो गया था, बिना एक भी शब्द कहे शंकर ने वो 10 का नोट उठाया और चलने लगा, उसके आंसू निरंतर बह रहे थे, उसने उसी 10rs के नोट पर लिख दिया के “सोनम गुप्ता बेवफा है”.
मौजूदा वक़्त में शंकर त्रिपाठी एक माइनिंग इंजिनियर है और बहरीन में एक आयल कंपनी में अच्छे पद पर कार्यरत है. उसने अपने इस अपमान और धोखे को अपनी ताक़त बनाया और अपनी गरीबी के बावजूद सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज, जोधपुर से पढाई पूरी की. सोनम गुप्ता के बारे में लोगों को बहुत कम पता है, साथ ही यहाँ ये बताना आवश्यक है की वो 10 का नोट ही असली है जिस पर सोनम गुप्ता बेवफा है शंकर त्रिपाठी ने लिखा था, जिस नए 2000 नोट पर यह लिखा हुआ है वो शंकर ने नहीं लिखा है.

Sonam Gupta American Connection:

As per recent media reports, the Sonam Gupta is married now and her husband is working as a Layer in Illions. It is supposed to be a attanged marriage.
Dollar 20 Note – Sonam Gupta Bewafa – Story – Americandollar-20-sonam-gupta-bewafa-note
Donald Trump – Sonam Gupta
sonam-gupta-bewafaa-donald-trump

China Connection.

Before marriage, Sonam Gupta went to china as a Nurse for 2 years.

Social Impact of Sonam Gupta Bewafa

Social Impact update of Sonam gupta bewafa hai of 18 november 2016 (18/11/16) is that a bar cum club in Delhi launched an offer according to which if your name is sonam gupta and you are visiting the club then you can have a free BEER.

0 comments